X Close
X
8299323179

मथुरा में भारी भीड़ से प्रशासन के हाथ-पाँव फुले, गिरिराज जी की दंडवती परिक्रमा प्रतिबंधित


Lucknow:

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में मुड़िया पूर्णिमा मेले के दौरान गिरिराज महाराज की दंडवती परिक्रमा जिला प्रशासन ने प्रतिबंधित कर दी है। भीड़ के दबाव को देखते हुए भक्तों की सुरक्षा के दृष्टिगत यह फैसला प्रशासन ने लिया है। बात दे की गोवर्धन का मुड़िया पूर्णिमा मेला इस बार 12 जुलाई से शुरू हो रहा है। 11 जुलाई की रात से गिरिराज के भक्तों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। इस पांच दिवसीय मेला के दौरान 16 जुलाई तक करीब 80 लाख लोगों के गिरिराज महाराज की परिक्रमा करने का प्रशासनिक ने अनुमान लगाया है।

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मध्यस्थाता नहीं हुई तो 25 जुलाई से हम करेंगे रोजाना सुनवाई

गिरिराज महाराज की दंडवती परिक्रमा में भीड़ को देखते हुए दंडवती परिक्रमा को प्रतिबंधित कर दिया गया है। डीएम सर्वज्ञराम मिश्र ने कहा है कि दंडवती परिक्रमा वर्ष भर अनवरत लगाई जाती है। बड़ी संख्या में गिरिराज महाराज के भक्त यहां दंडवती परिक्रमा करने आते हैं। डीएम ने गिरिराज महाराज के भक्तों से शांतिपूर्वक और भक्तिभाव के साथ परिक्रमा की अपील की है। कहा की भीड़ के चलते एक-दो बार पहले भी दंडवती परिक्रमा पर रोक लगाई गई थी।

जानिए, दंडवती करने का महत्व खड़ी परिक्रमा की तुलना में

मुड़िया पूर्णिमा पर गिरिराज जी की जमीन पर लेटकर दंडवती करने का महत्व खड़ी परिक्रमा करने के बराबर माना जाता है। मुड़िया पूर्णिमा से पहले ही मंदिरों में प्रात:काल गिरिराज जी महाराज का दूध से अभिषेक व शाम को श्रृंगार के साथ राज भोग फिर आकर्षक फूल बंगला व छप्पन भोग के दर्शन आकर्षण का केन्द्र बने हुए है।

इन मंदिरो मची हुई है धूम

मेरठ के तलहटी प्रसिद्ध दानघाटी मंदिर, दसविसा के मुकुट मुखारविंद मंदिर, बड़ा बाजार के लक्ष्मीनारायण मंदिर, चकलेश्वर के प्राचीन सनातन गोस्वामी मंदिर, राधा-श्याम सुंदर मंदिर, नूतन मंदिर, नंदभवन, इमली तला आश्रम, तीन कोड़ी आश्रम, कनक भवन, श्री लक्ष्मी वैंकटेश मंदिर, श्रीराधा दामोदर आश्रम, कलाधारी आश्रम, भागवत दास आश्रम, निर्मोही अखाड़ा सीताराम मंदिर, निर्वाणी अखाड़ा सब्जी मंडी स्थित लक्ष्मण जी मंदिर आदि में धार्मिक आयोजनों की धूम मची है।

ये भी पढ़ें: Sawan Jal abhishek 2019: सावन में भगवान शिव को क्यों चढ़ाते हैं जल, सोमवार व्रत का क्या है महत्व

ये भी पढ़ें: 12 जुलाई से भगवान विष्णु के निद्रा में चले जाने से 4 माह तक नहीं होंगे शुभ कार्य

ये भी पढ़ें: Jagannath Rath Yatra 2019: आज होगा भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा का शुभारंभ, जानिए इस यात्रा का इतिहास और महत्व 

देश-दुनिया और पॉलिटिक्स से जुड़ी अन्य सच्ची ख़बरों से उपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को लाइक करें YouTubeचैनल को सब्सक्राइब करें और Twitter पर हमें फॉलो करें।

The post मथुरा में भारी भीड़ से प्रशासन के हाथ-पाँव फुले, गिरिराज जी की दंडवती परिक्रमा प्रतिबंधित appeared first on SpashtAwaz.