X Close
X
8299323179

लोकसभा चुनाव के बाद होगा ईरान से तेल आयात पर निर्णय: सुषमा स्वराज


Lucknow:

ईरान से तेल आयात पर निर्णय को लेकर लगातार गहमा-गहमी बनी हुई है। इस मामले पर भारत ने ईरान से कहा है कि वह अपने व्यावसायिक हितों, ऊर्जा सुरक्षा और आर्थिक हितों को ध्यान में रखते हुए उससे तेल आयात करने के बारे में कोई भी निर्णय लोकसभा चुनाव के बाद लेगा। यह बात विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारत की यात्रा पर आये ईरान के विदेश मंत्री जावद जरीफ से मुलाकात के दौरान मंगलवार को कही। गौरतलब है कि, पिछले महीने भारत ने कहा था कि अमेरिका द्वारा प्रतिबंधों में दी गयी रियासत समाप्त होने के बाद वह तेल आपूर्ति की ज़रूरत पूरी करने के लिए सऊदी अरब जैसे देशों से तेल आयात के विकल्पों पर विचार करेगा।

खुदरा महंगाई दर में इजाफा, अप्रैल में 2.92 फीसदी रही मुद्रास्फीति

जिसके बाद प्रशासन ने अप्रैल में कहा था कि वह ईरान से तेल आयात करने वाले देशों को प्रतिबंधों में दी गयी छूट एक मई से समाप्त कर देगा। बता दें कि चीन के बाद भारत ही ईरान से सबसे अधिक तेल आयात करता है। वर्ष 2018 से 19 में भारत ने चीन से 2 करोड़ 40 लाख टन कच्चे तेल का आयात किया था। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उस समय ट्वीट किया था कि देश की रिफाइनरियों को तेल की आपूर्ति के लिए मजबूत योजना है। ईरानी विदेश मंत्री की यह यात्रा भारत को ईरान का रूख बताने के लिए हुई है।

पेप्सिको कंपनी ने गुजरात के किसानों को दी राहत, एक मुकदम लिया वापस

ईरान ने व्यापक संयुक्त कार्रवाई योजना तथा द्विपक्षीय सहयोग पर भी चर्चा की। ईरान तेल की आपूर्ति के मुद्दे पर रूस, चीन, तुर्कमेनिस्तान और इराक के साथ बात कर चुका है। मुलाकात के दौरान दोनों पक्षों ने चाबहार बंदरगाह परियोजना पर चर्चा की और उससे सम्बंधित अनुबंध के कियान्वयन पर संतोष व्यक्त किया।

ये भी पढ़ें: रूह अफजा के दीदार को तरस गए रोजेदार, आखिर कहां गया रुह अफजा

ये भी पढ़ें: सबसे ज्यादा इंटरनेट उपभोग करने में भारत सबसे आगे… Google

ये भी पढ़ें:  देश के सर्विस सेक्टर में आई भरी गिरावट, पिछले सात महीने के सबसे निचले स्तर पर पंहुचा विकास दर

The post लोकसभा चुनाव के बाद होगा ईरान से तेल आयात पर निर्णय: सुषमा स्वराज appeared first on SpashtAwaz.